Issue Regarding Wearing Of Hijab By Muslim Women. on 8 February, 2022

श्री अधीर रंजन चौधरी (बहरामपुर):  अध्यक्ष महोदय, एक छोटी सी बात है । इसे रखने दिया जाए । बात यह है कि सदन के अंदर हम लोग ‘सबका साथ, सबका विश्वास और सबका प्रयास’ जैसी बड़ी-बड़ी बात करते हैं । हम यह भी कहते हैं कि हिन्दुस्तान में समानता है और सबको समान अधिकार है । यह हम मानकर चलते हैं । लेकिन, कई दिनों से हिन्दुस्तान के बहुत सारे कोनों से यह खबर आ रही है कि मजहब के आधार पर कुछ लोगों के खिलाफ घिनौनी कार्रवाई की जा रही है । धर्म हम सबके लिए समान है । धर्म के नाम अलग-अलग हो सकते हैं । हो सकता है कोई ईस्टर को मानता हो, कोई अल्लाह को मानता हो, लेकिन हर धर्म की एक अलग पहचान होती है ।

          जैसे कि हिन्दू अपने सिर पर तिलक लगाते हैं, तो मुसलमान महिलाएं हिज़ाब पहनती हैं । हिज़ाब पहनना कोई गुनाह तो नहीं है, लेकिन आजकल हमारे देश के कई हिस्सों में हिज़ाब पहनने की वजह से उनके ऊपर अत्याचार भी हो रहे हैं, हमले भी हो रहे हैं । इसकी वजह से हमारे देश में मज़हब के नाम पर समाज के अंदर दरार पैदा होती है । जैसे कि आज कर्नाटक में 30 से 40 कॉलेजेज़ बंद पड़े हैं । जबरदस्ती हिज़ाब उतारने की कोशिश की जा रही है ।…(व्यवधान) हिन्दुस्तान में इस तरीके के घिनौने काम न हों ।…(व्यवधान)